गर्भ में जुड़वां बेटियां जानकर, डॉक्‍टर पिता ने कहा, गर्भपात कराओ

गर्भ में जुड़वां बेटियां जानकर, डॉक्‍टर पिता ने कहा, गर्भपात कराओ

http://naidunia.jagran.com/state/rajasthan-indian-doctor-takes-her-husband-to-court-after-revealing-the-sex-of-their-unborn-girl-twins-578902

 
Published: Mon, 23 Nov 2015 03:50 PM (IST) | Updated: Mon, 23 Nov 2015 03:56 PM (IST)By: Editorial Team
और जानें : Indian doctor | Jaipur Doctor | Doctor Mitu Khurana | Doctor Kamal Khurana | revealing the sex | unborn girl twins | Abortion | |

जयपुर। जयपुर की शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्‍टर मीतू खुराना अपने पति के खिलाफ कानूनी लड़ाई लड़ रही हैं। दो जुड़वां बेटियों की मां मीतू के पति भी पेशे से डॉक्‍टर हैं और वो नहीं चाहते थे कि उनकी बेटियां इस दुनिया में आएं।

यही वजह है कि जब मीतू सामान्‍य जांच के लिए अस्‍पताल गईं थीं, तो उनके पति डॉक्‍टर कमल खुराना ने उनकी अल्‍ट्रा साउंड जांच करवाई जिससे पता चला कि डॉक्‍टर मीतू के गर्भ में जुड़वां बेटियां पल रही हैं।

यह पता ल‍गते ही डॉक्‍टर कमल ने मीतू पर गर्भपात कराने का दबाव बढ़ा दिया था। हालांकि मीतू ने पति की इस गैरकानूनी मांग को नहीं माना और बेटियों को जन्‍म दिया। आज उनकी दोनों बेटियां 10 साल की हो चुकी हैं। मीतू ने अपने पति के खिलाफ मुकदमा भी दर्ज करवाया लेकिन निचलती अदालत ने प्रकरण को खारिज कर दिया।

दस साल पुरानी है घटना

डॉक्‍टर मीतू के अनुसार साल 2004 में वो गर्भावस्‍था की नियमित जांच के लिए अस्‍पताल गई थीं, जब उनके पति से अल्‍ट्रा साउंड के जरिए यह पता लगा लिया था कि मीतू के गर्भ में बेटियां पल रही हैं। निचली अदालत द्वारा मामले को खारिज करने के बाद मीतू ने हाइकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है। यह मुकदमा देश के हाइप्रोफाइल मुकदमों में शामिल हो चुका है।

गौरतलब है कि भारत में लिंगानुपात में भारी असमानता तथा कन्‍या भ्रूण हत्‍या की दर अत्‍यधि ऊंची है। हमारे देश में भ्रूण हत्‍याओं को रोकने के लिए 1990 में एक कानून में भी बनाया गया था, जिसके तहत गर्भ में पल रहे बच्‍चे का लिंग पता लगाना एक जघन्‍य अपराध माना गया है। बावजूद इसके देशभर में कन्‍या भ्रूण हत्‍या अब तक पूरी तरह से खत्‍म नहीं हो सकी है।

डॉक्‍टर मीतू खुराना का कहना है कि तमाम सबूतों के बावजूद उनके पति को कसूरवार नहीं ठहराया जा रहा है, जिससे देश में गलत संदेश जा रहा है। इस वजह से भविष्‍य से कोई महिला भ्रूण हत्‍या के खिलाफ आवाज उठाने में डरेगी।

उल्‍लेखनीय है कि गैरकानूनी होने के बावजूद भारत में गर्भ में पल रहे बच्‍चों की जानकारी पाने के लिए चोरी छिपे हजारों की संख्‍या में अल्‍ट्रा साउंड किए जाते हैं।

मीतू का मुकदमा

डॉक्‍टर मीतू के मुकदमे में न सिर्फ उनके पति डॉक्‍टर कमल खुराना बल्कि अल्‍ट्रा साउंड करने वाले अस्‍पताल जयपुर गोल्‍डन हॉस्पिटल को भी सबूतों के अभाव में निर्दोष पाया गया है। दूसरी ओर डॉक्‍टर कमल ने अपनी पत्‍नी के लगाए सभी आरोपों को निराधार और गलत बताया है।

चौंकाने वाले आंकड़े

मेडिकल जर्नल लैंसेट में प्रकाशित एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि साल 1980 से 2010 के बीच भारत में 12 मिलियन कन्‍या भ्रूण हत्‍याएं की गई हैं।

– See more at: http://naidunia.jagran.com/state/rajasthan-indian-doctor-takes-her-husband-to-court-after-revealing-the-sex-of-their-unborn-girl-twins-578902#sthash.iNpJvc5u.dpuf

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s